Wednesday, January 21, 2009

पुराना नैनीताल

नैनीताल की यह बहुत पुरानी तस्वीरें मुझे इंटरनेट से मिली हैं



“General view looking down on Naini Tal Lake from the northern hills,” Photograph of Nainital from the Macnabb Collection (Col James Henry Erskine Reid): Album of views of ‘Naini Tal’ taken by Lawrie & Company in 1895.

Oriental and India Office Collection, British Library






Naini Tal, After landslip of 1880.” 1883.
Macnabb Coll.


Oriental and India Office Collection,
British Library.





(Naina (Cheena or China) Peak can be seen on the right in this 1855 photograph, and Deopatta sloping upwards on the left. “View [of Naini Tal] from the Lake.” 1855. Photographer Dr. John Murray (1809-1898). From Murray Collection: ‘Photographic views in Agra and its vicinity.’

Oriental and India Office Collection, British Library.




Alma Hill, Snow View and the Old Government House atop the Sher-ka-Danda Ridge in 1886. “The lake at Naini Tal (U.P.). 9 October 1886.” Water-colour painting of the lake at Naini Tal in the United Provinces by Charles J. Cramer-Roberts (1834-1895), 9 October 1886. Inscribed on front in ink: ‘Naini Tal. Oct 9/86. C.J.C.R.’

Oriental and India Office Collection, British Library.

22 comments:

शाश्‍वत शेखर said...

खुबसूरत....कभी मौका मिला तो जरुर जायेंगे|

Manish Kumar said...

Interesting find !

Udan Tashtari said...

बड़ी दुर्लभ तस्वीरें प्रस्तुत की हैं, आभार.

Raushni said...

Good Pictures Vineeta

रंजना [रंजू भाटिया] said...

अब तो सब बदला सा हैं यहाँ ..बहुत अच्छी तस्वीरे हैं संजो के रखने लायक

Zakir Ali 'Rajneesh' (S.B.A.I.) said...

नैनीताल का चित्रमय इतिहास देखकर अच्‍छा लगा।

mamta said...

अब तो नैनीताल मे भीड़ के अलावा कुछ नही दीखता है । बदल गया है नैनीताल ।

Amit said...

bahut sundar..main nainitaal gaya hua hun....lakin aap ne jo photo dikhaayen hai wo sahi men adbhut hain..

BrijmohanShrivastava said...

सराहनीय

Mired Mirage said...

बहुत सुन्दर! साथ में कुछ आज के चित्र भी लगा देतीं तो बदलाव का पता पड़ता।
घुघूती बासूती

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत खूबसुरत तस्वीरें. कितना कुछ बदल गया है अब?

रामराम.

विनय said...

बड़े ही मनोरम दृश्य है

---आपका हार्दिक स्वागत है
चाँद, बादल और शाम

Abhishek said...

यह संकलन तो स्वयं में ही एक धरोहर है.

(gandhivichar.blogspot.com)

Tarun said...

bahut sunder, purani tasveer aur naye nainital me shayad ab jameen aasmaan ka fark ho gaya hai

Arun said...

good job.

मुसाफिर जाट said...

विनीता जी,
असल में नैनीताल तो यही है जो आपने दिखाया है. लेकिन अब तो नैनीताल एक "बढ़िया वाला" शहर बन गया है. ताल का तो पता ही नहीं है. जो है वो भी काफी मटमैला हो गया है.

प्रकाश गोविन्द said...

आकर्षक तस्वीरें हैं !

आज के नैनीताल की फोटो भी
होती तो तुलनात्मक अध्ययन ही
कर लेते !
आपके द्बारा खींची हुयी फोटो कहाँ हैं ,
उनको भी शामिल कीजिये !

मै तो तस्वीरों में बोट (नाव) ही
ढूंढ रहा था , सिर्फ सबसे नीचे वाली
फोटो में ही दिखी !
कहाँ गयीं सारी नाव , जो मैंने देखी थीं !

hem pandey said...

आज के नैनीताल से तुलना करने पर बिल्कुल ही भिन्न तस्वीरें लग रही हैं. नैनीताल की दुर्लभ फोटो यहाँ भी उपलब्ध हैं-
http://www.merapahad.com/forum/photos-and-videos-of-uttarakhand/some-exclusive-photos-nainital/

Harsh pandey said...

photo sundar hai achchi lagi
vastav me sarovar nagari purani wali tasveero me hi nagar aati hai . ab wah pahle wali baat nahi rahi vineeta ji
pollution bad gaya hai.paani bhee pradushit ho chuka hai .

प्रकाश गोविन्द said...

hem pandey जी ने जो लिंक दिया है मैं उस पर गया तो कई बेहद खूबसूरत तस्वीरें देखने को मिलीं ! 1899 में बने गवर्नर हाउस की शान भी देखते ही बनती है ! पर ये हनुमान गढ़ी कहाँ पर है नैनीताल में ?

मनुज मेहता said...

wonderful colleaction old shots. i am impressed with your emotions attached towards your city. May God Bless you.
regards
Manuj MEhta

bhoothnath(नहीं भाई राजीव थेपडा) said...

पुराने और नए नैनीताल में इतना अधिक अन्तर...........मेरा तो मन ही खट्टा हो गया.........यशस्वी जी,तस्वीरें बेशक अच्छी लगती हैं.......मगर विकास के इस घिनौने रूप ने धरती की प्राकृतिकता को पूरी तरह से नष्ट ही कर दिया है...........मैं तो अत्यन्त व्यथित हूँ........!!