Monday, June 15, 2009

नैनीताल में गुरू पर्व की कुछ झलकियां

नैनीताल में कुछ इस अंदाज में मनाया गया गुरु पर्व का त्यौहार
















18 comments:

P.N. Subramanian said...

गुरुपर्व के चित्र सुन्दर लगे. लगता है सिख पंथ के लोगों के अलावा दूसरे इसे नहीं मनाते.

Science Bloggers Association said...

बहुत खूब। बेहद सजीव चित्र।

-Zakir Ali ‘Rajnish’
{ Secretary-TSALIIM & SBAI }

रंजन said...

हमने भी देख लिया गुरुपर्व आपके साथ..

Abhishek Mishra said...

गुरुपर्व की झलकियाँ हमारे साथ बांटने का धन्यवाद.

Arun said...

Guru Parv ki achhi jhalkiya dikhayi apne

मुनीश ( munish ) said...

nice reportage! lively indeed!

Ashish said...

Nice pics, would have been better if slight details regarding the "Guru Parv" itself had been added.

Raushni said...

Achhi photo dikhayi apne.

रंजना [रंजू भाटिया] said...

बहुत सुन्दर चित्र

डॉ. मनोज मिश्र said...

सचित्र वर्णन ,बहुत सुंदर .

"अर्श" said...

sachitra varnan khubsurat prastuti... apko bhi guru parv ki dhero badhaayeeyaan...


arsh

Udan Tashtari said...

बढ़िया रही गुरु पर्व की चित्र प्रदर्शनी!! आभार.

Vijay Kumar Sappatti said...

waah vinita ji ,

nainitaal ke ye sundar drushay dekhkar man bhaavvibhor ho utha..

is sajiv chitran ke liye aapko badhai ..

vijay
pls read my new sufi poem :
http://poemsofvijay.blogspot.com/2009/06/blog-post.html

परमजीत बाली said...

सुन्दर प्रस्तुति।आभार।

मस्तानों का महक़मा said...

ये कोई नई बात नही है पर जिसको लोग सिर्फ अपनी नज़रों तक ही सीमित रखते हैं उसे लोगों के ही बीच उतारना एक अच्छी सोच है।।
फोटो भी बहुत अच्छे हैं।

आशीष खण्डेलवाल (Ashish Khandelwal) said...

wah!!! aapkee is reporting se sabit hota hai ki ek tasveer hazaar shabdon ke barabar hoti hai

Dhiraj Shah said...

गुरुपर्व के चित्रो से गुरुपर्व की सजीवता महसुस होती है ।

Manish Kumar said...

shukriya is chitratmak jhanki ke liye.